भारत का एकमात्र मंदिर जिसमे मिलती है प्रेमी जोड़ों को शरण,खुद महादेव करते है रक्षा

 प्रेमी जोड़ो को अक्सर कही भी शरण नहीं मिलती घर से भागने वाले प्रेमियों को कोई भी आसरा नहीं देता है और न ही उनकी कोई मदद करता है। लेकिन भारत में एक ऐसा है मंदिर है जिसमे भागे हुए प्रेमी जोड़ो को शरण मिलती है।

ये मंदिर है शंगचूल महादेव मंदिर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू स्थित शांघड़ गांव में मौजूद महाभारत काल के शंगचूल महादेव मंदिर में घर से भागे हुए प्रेमी जोड़ों को शरण मिलती है। इस मंदिर में प्रेमी जोड़ो के आलावा किसी को भी शरण नहीं मिलती कहा जाता है की यहाँ आने के बाद प्रेमी जोड़े खुद को सुरक्षित महसूस करते है।

शंगचूल महादेव मंदिर का सिमा क्षेत्र करीब 100 बीघा में फैला हुआ है जैसे ही इस सिमा में कोई प्रेमी जोड़ा पहुँचता है उसे महादेव की शरण में आया हुआ मान लिया जाता है वो जब तक मंदिर की सिमा में है तब तक उनके परिजन उन्हें कुछ नहीं कह सकते है और पुलिस भी इस जोड़े को कुछ नहीं कह सकती और जब तक इस मामले को सुलझा नहीं लिया जाता। तब तक इस मंदिर के पंडित उस जोड़े की खूब खातिरदारी करते है इस मंदिर को लेके मान्यता है की अज्ञातवास के समय पांडव यहां कुछ समय के लिए ठहरे थे और उनका पीछा करते हुए कौरव भी वहां पहुंच गए

तब शंगचूल महादेव ने कौरवों को रोका और कहा कि ये मेरा क्षेत्र है और जो भी मेरी शरण में आएगा उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। महादेव के डर से कौरव वहां से वापस लौट गए तब से लेकर अब तक जब भी समाज से ठुकराया हुआ या फिर कोई प्रेमी जोड़ा घर से भागकर महादेव की शरण में आता है तो स्वयं महादेव उनकी रक्षा करते है इस मंदिर को लेके काफी शख्त नियम बनाये गए है इस गांव में पुलिस के आने पर भी प्रतिबंध है इसके साथ ही यहां शराब, सिगरेट, हथियार और चमड़े का सामान लेकर आना मना है।

Post a Comment

Previous Post Next Post