अश्लील वीडियो बनाने वाले नेटवर्क का खुलासा, 41 गिरफ्तार, बच्चों के साथ करते थे..



केरल पुलिस ने ऑपरेशन पी हंट के तहत बच्चों के अश्लील वीडियो बनाने के एक बडे़ नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है। इस ऑपरेशन के तहत चलाए गए राज्यव्यापी अभियान में कुल 41 लोगों की गिरफ्तारी की गई है। केरल पुलिस ने यह गिरफ्तारियां तब की हैं, जब सोशल मीडिया इंस्टाग्राम , व्हाट्सएप ग्रुप औरअन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर बच्चों की अश्लील फोटोज और वीडियोज फैलाए जा रहे थे।

राज्य में दर्ज किए गए 339 मामले, 392 उपकरण हुए बरामद
इस अभियान का नेतृत्व करने वाले साइबरडोम ऑफिसर और ADGP मनोज अब्राहम ने बताया कि इस मामले में राज्य भर में कम से कम 339 मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि 392 उपकरण भी जब्त किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि पूरे राज्य में 465 जगहों पर ये छापेमारी की गई है। आरोपियों के पास से चाइल्ड पोर्नोग्राफी में इस्तेमाल किए जाने वाले उपकरण भी बड़ी संख्या में बरामद किए गए हैं। पुलिस के मुताबिक, पॉक्सो कानून के तहत 41 मामले, जबकि 298 केस आपराधिक प्रक्रिया संहिता के तहत दर्ज किए गए हैं।

आरोपियों में सबसे ज्यादा आईटी प्रोफेशनल्स
बच्चों को यौन शोषण से सुरक्षा देने वाली केरल पुलिस की टीम ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान बच्चों से अश्लील हरकतें करने और उनका वीडियो बनाने के मामले ज्यादा तेजी से बढ़े हैं। टीम के मुताबिक, जिन लोगों की गिरफ्तारी की गई है, उनमें ज्यादातर युवा और आईटी प्रोफेशनल्स शामिल हैं।

इन राज्यों में दर्ज हुए इतने मामले
पुलिस ने बताया कि दर्ज किए कुल मामलों में 30 मामले तिरुवनंतपुरम ग्रामीण में दर्ज किए गए हैं, जबकि 32 मामले अलप्पुझा में और मलप्पुरम जिले में सबसे ज्यादा 46 मामले दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा पलक्कड़ में कुल 38 मामले दर्ज किए गए हैं। 38 मामलों के साथ यह दूसरे नंबर पर है। वहीं अलप्पुझा से 43 उपकरण, जबकि तिरुवनंतपुरम ग्रामीण से 49 उपकरण भी जब्त किए गए।

Post a Comment

Previous Post Next Post