2 मुस्लिम युवतियों ने हिंदू युवकों से की शादी, पुलिस ने की सुरक्षा की पेशकश

सहेली से हुआ प्यार, 10 लाख रुपये खर्च कर करवाया सेक्स चेंज, रचाई शादी

यूपी पुलिस ने बरेली जिले में 2 मुस्लिम युवतियों द्वारा अपनी मर्जी से धर्मपरिवर्तन कर हिंदू युवकों के साथ शादी करने पर उन्हें सुरक्षा देने की पेशकश की है। मामला रिठौरा और बहेड़ी इलाके का है। युवतियों ने अपने परिजनों से जान के खतरे की आशंका जताई थी। पुलिस ने कहा कि अगर दोनों पति-पत्नी सुरक्षा माँगेंगे तो उन्हें सुरक्षा दी जाएगी।

बरेली के वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवाण ने शनिवार को कहा, “दोनों लड़कियों ने अपने प्रमाणपत्रों के आधार पर बालिग होना बताया है और दोनों ने दूसरे धर्म के युवकों से अपनी मर्जी से विवाह किया है। रिठौरा के युवक-युवती के परिजनों ने लिखित रूप से अब कोई भी आपत्ति ना होने की बात कही है और लिखित रूप से पुलिस को अनापत्ति प्रमाणपत्र दे दिया है। जिले के दोनों प्रकरण में कथित लव जिहाद का कोई मामला नहीं है।”


वहीं जिले के बहेड़ी इलाके में हुई घटना में महिला के परिवार ने हिंदू पुरुष के खिलाफ अपहरण और चोरी का मामला दर्ज कराया था। बता दें कि उनकी शादी गुरुवार को रितोरा क्षेत्र के एक मंदिर में हिंदू धर्म के अनुसार हुई थी।

गौरतलब है कि बहेड़ी क्षेत्र में मुस्लिम युवती ने हिंदू लड़के से शादी करने के बाद वीडियो साझा कर एसएसपी से जान की सुरक्षा की गुहार लगाई थी। युवती ने अपने वीडियो में पति और उसके दोस्तों की जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की।

युवती ने वीडियो में कहा, “मैंने अपनी मर्जी से शादी की है। अगर मेरे पति के साथ कुछ होता है तो मेरे माता-पिता को जिम्मेदार ठहराया जाए।” दरअसल युवती के पिता ने हिन्दू पक्ष के ऊपर कई संगीन आरोप लगाए थे, जिसको युवती ने वीडियो जारी कर खारिज कर दिया। उसने शादी का प्रमाण-पत्र भी जारी किया, जिसमें आर्य समाज मंदिर में सितंबर 2020 में मंजीत चौधरी नामक युवक से शादी दर्शाया गया है।


एसएसपी सजवान ने कहा, “हम उच्च न्यायालय के निर्देश का पालन कर रहे हैं, जो कहता है कि एक रिश्ते में दो व्यस्क की सहमित होनी चाहिए। उन्हें अपने परिवार के हस्तक्षेप के बिना एक साथ रहने का अधिकार है।”

हाल ही में इस तरह की एक और घटना बरेली में ही सामने आई थी, जहाँ अलीशा नाम की मुस्लिम युवती ने अमन नाम के हिन्दू युवक से शादी कर ली। युवती के पिता ने बरेली के प्रेमनगर थाने में हिन्दू युवक पर अपहरण का मामला दर्ज कराया था।

पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के कुछ ही समय बाद युवती को बरामद कर लिया था। इसके बाद पुलिस ने युवती का मेडिकल कराया। अदालत में बयान भी दर्ज कराया। इस दौरान पुलिस ने बताया कि युवक और युवती दोनों बालिग़ हैं और युवती ने युवक के पक्ष में बयान दिया था। फिर पुलिस ने युवती को युवक के घर भेज दिया था और घटना में धर्म-परिवर्तन का कोई पहलू भी सामने नहीं आया था।

इसके अलावा उत्तर प्रदेश के ही औरैया जिले में एक मामला सामने आया था, जिसमें दो अलग धर्म के प्रेमी-प्रेमिका ने आपसी सहमति से शादी की थी। दिल्ली की रहने वाली रेशमा और औरैया के निवासी अमन ने बिधूना कस्बे स्थित भगवान शिव के मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज़ों से शादी की थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ दोनों के बीच पिछले काफी समय से बातचीत हो रही थी। इस शादी में युवक और युवती के परिजन भी शामिल हुए थे और दोनों ने पति-पत्नी को आशीर्वाद भी दिया था। परिजनों का कहना था कि जिस बात में उनके बच्चे खुश हैं, उस बात में ही उनकी ख़ुशी है।

Post a Comment

Previous Post Next Post