प्रतिदिन बीवी कमा कर ला रही थी!` 10 से 20 हजार रुपए, हकीकत सामने आने पर पति ने लगाई फांसी




पति हरियाणा सरकार में अभी क्लर्क के तौर पर काम करता था। परिवार वालों के मुताबिक रविंद्र ने 1 वर्ष पहले ही दिल्ली में निरंतर तीन साल की तैयारी करने के बाद यह नौकरी प्राप्त की थी। किन्तु अब रविंद्र इस संसार में नहीं है दरअसल उसकी मौत का वजह कोई और नहीं जबकि उसकी अपनी बीवी है।

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में रविंद्र ने लिखा कि प्रतिदिन मेरे काम पर जाने के बाद सपना पास के मॉल में चोरी करने के लिए निकल पड़ती थी इस बात का पता उसे थाने से ही प्राप्त हुआ था जब एक बार वह ऐसा करते हुए कैमरे में पकड़ी गई थी तब पुलिस ने उसे वार्निंग देकर छोड़ दिया था।

लेकिन समझाने के बाद भी सपना नहीं मानी और ये काम करती रही अपना प्रतिदिन चोरी किए हुए सामान को पास के मार्केट में सस्ते दामों पर बेच कर हजारों रुपए लाती थी तथा बहाना बना कर कहती थी। ये पैसे उसने लोन पर बिजनेस करने के लिए लिए हैं। स्थिति को काबू में ना आता देख रविंद्र ने सामाजिक प्रतिष्ठा खोने के डर से बुधवार शाम को फांसी कर जान दे दी। परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। जबकि सपना घर से फरार है तथा पुलिस उसे ढूंढने का प्रयास कर रही है।

Post a Comment

Previous Post Next Post