मुंह के छालों को भुलकर भी न करें नजरअंदाज, इस खतरनाक संक्रमण का भी करते हैं ये इशारा

मुंह के छालों को भुलकर भी न करें नजरअंदाज, इस खतरनाक संक्रमण का भी करते हैं ये इशारा


मुंह में छाले होने से हर व्यक्ति को बहुत परेशानी होती है। खाने के साथ-साथ व्यक्ति को पानी पीने में भी दर्द होता है। लेकिन क्या आपको पता है ये छाले जब मुंह के साथ-साथ गले में भी हो जाएं तो यह बहुत ही दर्दनाक हो जाते हैं। बड़े-बड़े लाल दानों या धब्बों का गले के साथ मुंह में होना सामान्य नहीं होता है। डाक्टर्स के मुताबिक ये किसी बड़ी बीमारी के संक्रमण का संकेत देता है। आइए जानते हैं कैसे होते हैं ये छाले और किस बीमारी की ओर करते हैं संकेत?

दरअसल हम जिस संक्रमण की बात कर रहे हैं इसे ये स्ट्रेप थ्रोट इंफेक्शन (Strep throat infection) कहा जाता है। यह संक्रमण सामान्य कारणों में खाद्य पदार्थों, डेन्चर या मुंह या गले के संक्रमण के कारण ये मुंह के अंदर बड़े दाने होते हैं। स्ट्रेप गले का संक्रमण हैं, जो कि बहुत हद तक माउथ अल्सर के समान होता है। मुंह में छाले जब बढ़ जाते हैं तब ये इंफेक्शन बढ़ जाता है और ये गले तक पहुंच जाता है। इस वजह से ये गले में टोंसिल और दर्द का कारण भी बन सकते हैं। आइए इससे बचने के तरीके और उपायों के बारे में जानते हैं...

क्या है स्ट्रेप थ्रोट इंफेक्शन?

स्ट्रेप गले का एक संक्रमण है जो गले और टॉन्सिल को प्रभावित करता है। इसमें छोटे, लाल धब्बे मुंह की तालुओं में हो जाता है, जिसे पेटीचिया कहा जाता है। यह संक्रमण स्ट्रेप्टोकोकस नाम के बैक्टीरिया के कारण होता है। आइए जानते हैं इसके लक्षणों के बारे में...

-बुखार
-निगलते समय गले में दर्द
-खाने में परेशानी
-लाल और सूजी हुई टॉन्सिल
-गर्दन में सूजन लिम्फ नोड्स
-स्वाद की कमी

घर में ऐसे ठीक करें ये बीमारी-

शहद

कुछ शोध के अनुसार बताया जाता है कि, शहद में रोगाणुरोधी गुण होते हैं। जिससे की यह हानिकारक जीवों को मार देता है व उनकी वृद्धि को धीमा कर देता है। जिससे की संक्रमण को रोका जा सकता है और उपचार प्रक्रिया को गति दी जा सकती है।

ठंडा पानी

मुंह की अंदर के छालों को ठीक करने के लिए ठंडा पानी बहुत ही कारगार है। अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी की सलाह है कि अगर किसी को भी इस तरह की परेशानी हो तो उन्हें सबसे पहले अपने मुंह में 10 मिनट के लिए ठंडा पानी भर के रखना चाहिए।

दही या दूध

दही और दूध त्वचा को कोट करते हैं और एक अस्थायी बाधा प्रदान करते हैं। दही खाने या एक गिलास ठंडा दूध पीने से मुंह की जलन को कम करने में मदद मिल सकती है। इसके साथ ही ये दोनों घाव को ठीक करते हैं और खुजली को शांत करते हैं।

एलोवेरा

एलोवेरा सिर्फ त्वचा को सुंदर बनाने के लिए उपयोग में नहीं लिया जाता है, बल्कि मुंह व कई अन्य प्रकार की जलन को भी ठीक करने में मदद करता है। एलोवेरा जेल का उपयोग अक्सर बाहरी जलन पर किया जाता है। यह सूजन और बेचैनी को कम करने में मदद कर सकता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...