अंधेरे में स्मार्टफोन के इस्तेमाल से बढ़ सकता है ब्रेन ट्यूमर का खतरा, जानिए

अंधेरे में स्मार्टफोन के इस्तेमाल से बढ़ सकता है ब्रेन ट्यूमर का खतरा, जानिए

आजकल स्मार्टफोन के बिना जिंदगी अधूरी सी लगती है। हर कोई अपनी डेली लाइफ में स्मार्टफोन इस्तेमाल करते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते है जो अंधेरे में काफी समय तक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते रहते हैं। अंधेरे में या देर रात स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। 

हो सकती है ये परेशानी:

अंधेरे में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने से हमारी आंखों और ब्रेन पर काफी बुरा असर पड़ता है। इससे सिर दर्द की समस्या भी हो सकती है। 

अगर आप अंधेरे में रोज 30 मिनट तक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो आंखे ड्राय होने लगती हैं, साथ ही इससे हमारी आंखों के रेटिना का बुरा असर पड़ता है।

आपकी आंखों के साथ-साथ आपके शरीर के दूसरें हिस्सों पर भी बुरा असर पड़ने लगता है, डॉक्टरों ने सलाह दी है कि लंबे समय तक स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

अंधरे में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने से बॉडी में मेलाटोनिन हॉर्मोन का लेवल कम होने लगता है। मेलाटोनिन हॉर्मोन का लेवल कम होने के साथ-साथ ब्रेन ट्यूमर का खतरा बढ़ सकता है। 


Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...