पुरानी झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें

पुरानी झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें
पुरानी झाड़ू- घर में रखी झाड़ू धन-धान्य और सुख-शांति का प्रतीक होती हैं| माना जाता हैं कि यदि आप अपने घर में झाड़ू सही ढंग से रखते हैं किसी शुभ दिन उसे खरीदकर घर लाते है तो देवी लक्ष्मी की कृपा आप पर हमेशा ही बनी रहती है और आपका घर हमेशा धन धन्य से भरा रहता हैं क्योंकि शास्त्रों में झाड़ू को देवी लक्ष्मीजी का ही प्रतीक माना जाता हैं| इसीलिए झाड़ू का सही ढंग से प्रयोग बहुत ही जरूरी बताया गया है आज हम आपको झाड़ू से जुडी वो सभी बाते बताने जा रहे है जिनका जानना आपके लिए और आपके घर के लिए बेहद जरूरी है.

झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें

ज्योतिष और शास्त्रों में माना गया है की घर की पुरानी झाड़ू को आपको शनिवार, अमावस्या, होलिका दहन के बाद, या ग्रहण के बाद अपने घर से निकाल देना चाहिए| साथ ही झाड़ू को हमेशा ऐसी जगह फेंकना चाहिए जहां कोई अन्य व्यक्ति उसके ऊपर पैर ना रख सके|यदि आप इनमे से किसी भी दिन पुरानी या टूटी झाड़ू को घर से बाहर निकालते हैं तो ऐसा माना जाता हैं कि घर में व्याप्त दरिद्रता और नकारात्मक शक्तियाँ भी उस झाड़ू के साथ ही आपके घर से दूर चली जाती हैं और घर में सकारात्मकता का वास होता है.

झाड़ू किस दिन ना फेकें 

झाड़ू को महालक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है जिससे हम घर की अलक्ष्मी या दरिद्रता को घर से दूर करते है इसीलिए ऐसा माना जाता है की जिनके घरो में साफ़ सफाई रहती है वहां का वातावरण पॉजिटिव एनर्जी से भरा होता है इसीलिए हमें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की कभी भी अपने घर से झाड़ू को एकादशी, गुरवार, शुक्रवार और लक्ष्मी पूजन के दिन बाहर नहीं फेकना चाहिए क्योकि यदि आप इस दिन झाड़ू को आने घर से निकालते हैं तो माता लक्ष्मी भी घर से चली जाती हैं और घर में नकतरामक शक्तियों का वास होने लगता है.

झाड़ू का अपमान ना करे 

शास्त्रों में भी ये बात बताई गयी है की जिस घर में झाड़ू का अपमान होता है उस घर में कभी भी देवी लक्ष्मी जी की कृपा नहीं बरसती है इसीलिए सदैव इस बात का ध्यान रखे की झाड़ू को कभी भी भूलकर भी पैर ना लगाए और न ही उसे लाँगे . शास्त्रों में झाड़ू का इतना बड़ा महत्व है की शीतलता प्रदान करने वाली माता शीतला भी अपने हाथो में झाड़ू लिए रहती है इसीलिए कोशिश करे की झाड़ू का अपमान ना होने दे.

टूटी या बिखरी झाड़ू को घर में ना रखे 

शास्त्रों और वास्तु में ये बताया गया है की टूटी या बिखरी हुई झाड़ू में नकारातमकता बढ़ने लगती है इसीलिए कभी भी टूटी या बिखरी हुई झाड़ू को घर में नहीं रखना चाहिए जब भी झाड़ू बहुत पुरानी या टूटने लगे तो उसे तुरंत किसी शुभ दिन पर बदल देना चाहिए माना जाता है की टूटी हुई झाड़ू के नकारात्मक प्रभाव से घर में परेशानिया बढ़ने लगती है और घर में दरिद्रता का वास होने लगता है.

नई झाड़ू कब खरीदे 

घर के लिए नई झाड़ू खरीदने का दिन बेहद मायने रखता है इसलिए ये धयान रखे की नई झाड़ू कृष्ण पक्ष में खरीदना शुभ होता है जबकि शुक्ल पक्ष में खरीदी गयी झाड़ू दुर्भाग्य का कारण बनती है मंगलवार शनिवार, रविवार और अमावस्या का दिन झाड़ू खरीदने के लिए सबसे शुभ होते है. कहा जाता है की शनिवार या अमावस्या के दिन घर में नई झाड़ू लाने से घर हर तरह से दोषमुक्त हो जाता है और घर में माँ लक्ष्मी जी का वास होता है. घर के ईशान कोण अर्थात उत्तर पूर्व दिशा में झाड़ू नहीं रखना चाहिए.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...