घर में इस जगह रखा है फिश एक्वेरियम तो दोगुनी हो जाएंगी खुशियां

घर में इस जगह रखा है फिश एक्वेरियम तो दोगुनी हो जाएंगी खुशियां

वास्तु शास्त्र की मानें तो मानव जीवन से संबंधित हर चीज़ का अपना प्रभाव होता है। कहने का भाव है कि व्यक्ति के आस-पसा रखी प्रत्येक चीज़, व्यक्ति पर अपना असर छोड़ती है। मगर ये प्रभाव अच्छे होता है या बुरे इस बारे में हर कोई नहीं जान पाता। तो चलिए आपकी इस परेशानी को हम दूर किए देते हैं। बताते हैं आपको कि घरों में शो पीज के तौर पर उपयोग होने वाला फिश एक्वेरियम घर के लोगों पर कैसा प्रभवा डालता है। 

दरअसल बताया जाता है कि वास्तु में फिश एक्वेरियम को केवल एक शो पीज नहीं बल्कि एर्नजी को उत्पन्न करना वाला माना जाता है। बल्कि कहा जाता है कि एक्वेरियम के अंदर संतुलन 5 तत्व के मौजूद हैं जब ये पांचों तत्व एक-दूसरे के साथ मिलते हैं तो यह एक प्रकार की ऊर्जा को प्रवाहित करते हैं। इसलिए इसे घर आदि में रखने की दशा व दिशा हमेशा सही होनी चाहिए। अगर इन्हें घर आदि में किसी भी स्थान पर रख दिया जाए तो ये अपने उल्टा प्रभाव देने लगते हैं। तो अगर आप इसे घर में रखना चाहते हैं या इसे रखने की सोच रहे हैं तो आपको बता दें इसके लिए आपके लिए वास्तु शास्त्र में आगे बताई जाने वाली इन बातों को जानना बहुत ही ज़रूरी है। 

यहां जानें वास्तु में बताई फिश एक्वेरियम से जुड़ी ये खास बातें- 

वास्तु विशेषज्ञों के अनुसार एक्वेरियम को हमेशा पूर्व, उत्तर तथा पूर्व-उत्तर दिशा में रखना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि घर का उत्तरी भाग करियर का प्रतिनिधित्व तथा पूर्वी भाग खुशहाली को दर्शाता है। 

जो दंपत्ति अपने बीच के प्रेम को बढ़ाना चाहता हो, उन्हें अपने घर के मुख्य द्वार की बाईं ओर फिश एक्वेरियम रखना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि इसे द्वार के दाईं ओर रखने से घर के पुरुष का मन अधिक चंचल होता है। 

इससे के बारे में ये हिदायत दी जाती है कि किसी भी व्यक्ति को कभी भी इसे किचन या बेडरूम में नहीं रखना चाहिए। इन दोनों स्थानों पर इसे रखने से घर तथा जीवन में नकारात्कमता बढ़ती है। 

इसके अलावा इस बात का भी खास ध्यान रखना चाहिए, इस फिश एक्वेरियम के अंदर 1 काले रंग की मछली के साथा 8 या 9 की संख्या में मछलियां होनी चाहिए। 

अगर किसी हाल में एक्वेरियम की कोई मछली मर जाती है तो उसे जल्दी से जल्दी हटाकर उसके स्थान पर नई मछली को फिश टैंक में डाल देना चाहिए, ऐसा न करने पर एक्वेरियम में बदबू के साथ-साथ घर में नाकारात्मक फैल जाती है। 

Post a Comment

Previous Post Next Post