जानिए घर में झाड़ू को किस जगह नही रखना चाहिए और इसे किस जगह नही रखना चाहिए

जानिए घर में झाड़ू को किस जगह नही रखना चाहिए और इसे किस जगह नही रखना चाहिए

सनातन धर्म में शास्त्र को विशेष महत्व दिया जाता है। शास्त्रों में जीवन के हर पहलू के बारे में बहुत विस्तार से वर्णन किया गया है। इन शास्त्र के मुताबिक घर में सकारात्मकता बनाए रखने के लिए कुछ ऐसी चीजें रखनी चाहिए। जो शुभ हो क्या आप जानते हैं. घर में इस्तेमाल होने वाली झाड़ू आर्थिक दृष्टि से कितनी महत्वपूर्ण है। इस झाड़ू की वजह से व्यक्ति करोड़पति और कंगाल दोनों बन सकता है। शास्त्रों में झाड़ू को कई मायने में शगुन और अपशगुन से जोड़ा गया है। और उसको प्रयोग करने का समय तथा उसके प्रयोग करने की विधि को काफी महत्व दिया गया है। कुछ शास्त्रों में झाड़ू को लक्ष्मी और उनकी बहन अलक्ष्मी से जोड़कर देखा जाता है।

शास्त्रों के अनुसार झाड़ू को धन की देवी महालक्ष्मी का प्रतीक मानते हुए झाड़ू को उचित और साफ सुथरे जगह पर रखने को कहा गया है कहते हैं कि नियमित रूप से प्राप्त और शाम में घर और कार्यस्थल की झाड़ू से सफाई करने से स्वच्छता के साथ धन की प्राप्ति भी होती है झाड़ू का गलत इस्तेमाल जहां एक तरफ दरिद्रता को न्योता देता है वही उसके सही इस्तेमाल से लक्ष्मी के लिए घर के द्वार खुल जाते हैं आपको बता दें कि झाड़ू को सदैव कृष्ण पक्ष में खरीदना चाहिए। शुक्ल पक्ष में खरीदी गई झाड़ू दुर्भाग्य का सूचक होती है झाड़ू कभी भी इंसान को ऊपर नहीं रखनी चाहिए ।

अन्यथा देव आगमन में बाधाएं होती है घर में झाड़ू लगाने का सबसे उचित समय दिन के पहले चार पहर बताए गए हैं रात के पहर में झाड़ू लगाने से घर में दरिद्रता आती है शाम को सूर्यास्त से पहले लगाने वाले झाड़ू की मिट्टी को कभी घर से बाहर नहीं रखना चाहिए क्योंकि शास्त्रों के अनुसार इसे मात्र का मिटटी कहा गया है झाड़ू को हमेशा छुपाकर रखना चाहिए ना की सबके सामने। कहा जाता है कि घर अथवा दुकान में पैसा रखने वाली अलमारी का मुंह उत्तर की तरफ होना चाहिए जिससे लक्ष्मी स्थाई रूप से निवास करती है।

शास्त्रों के अनुसार मंगलवार और शनिवार को घर में और कार्य स्थान पर उपलब्ध जमा कर लोबाण व गूगल की धूनी देने से ऊपरी हवाओं यानि की बुरी नजर से बचाए रहता है ईशान कोण को हमेशा साफ और व्यवस्थित रखें प्रतिदिन सुबह झाड़ू पोछा करें शाम के समय घर में झाड़ू पोछा ना करें ऐसा करने से मां लक्ष्मी रूठ जाती है और साधक को आर्थिक हानि का सामना करना पड़ सकता है।


Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...