क्या आपकी बाइक को भी पड़ती है बार-बार सर्विस की जरूरत? तो ऐसे पाएं इससे छुटकारा

अक्सर देखने में आता है कि लोगों की बाइक और स्कूटर में आये दिन कोई न कोई खराबी आती रहती है. कहने का मतलब लोग अपनी बाइक और स्कूटर का इस्तेमाल तो खूब करते हैं लेकिन जब इनकी देखभाल का समय आता है तब सर्विस पर कोई ध्यान नहीं देता. कुछ पैसे देकर लोग लोकल जगह से सर्विस करा लेते हैं और बाद में भुगतना पड़ता है. और बार-बार खर्चा बढ़ने लगता है. ऐसे में हम आपको कुछ बेसिक बातों की जानकारी दे रहे हैं जो आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं.

सर्विस जरूरी

समय-समय पर अपनी बाइक/स्कूटर की सर्विस हमेशा Authorised सर्विस सेंटर पर ही करानी चाहिये. लोकल जगह से सर्विस कराने बचना चाहिये. सर्विस के दौरान इंजन ऑयल बदलना सबसे जरूरी होता है, ताकि इंजन स्मूथ चले. कोशिश कीजिये की हर 1500-2000 किलोमीटर पर बाइक/स्कूटर का इंजन ऑयल चैक करा लें या जब तक इंजन ऑयल कम या काला न पड़ जाए. इसके अलावा बाइक की चेन सेट को चेक करा लें.

स्पार्क प्लग चेक करें

अक्सर लोग इंजन में लगे स्पार्क प्लग पर ध्यान नहीं देते, जिसकी वजह से कई बार इंजन के स्टार्ट होने में दिक्कतें आने लगती हैं. इसलिए 1500-2000 किलोमीटर पर स्पार्क प्लग को बदल देना चाहिए.

एयर फिल्टर को रखें साफ

गाड़ी में लगे एयर फिल्टर की सफाई बेहद जरूरी होती है, अकसर लोग इसे नजर अंदाज कर जाते हैं जिसकी वजह से इसका असर इंजन की परफॉरमेंस पर पड़ता है. इसलिए समय-समय पर एयर फिल्टर की सफाई जरूरी है.

टायर की देखभाल भी है जरूरी

हफ्ते में एक बार अपनी बाइक या स्कूटर के दोनों टायर्स में एयर प्रेशर जरूर चेक करें, हवा कम या ज्यादा होने से वाहन की परफॉरमेंस पर बुरा असर पड़ता है. इतना ही नहीं समय-समय पर व्हील बैलेंसिंग कराना भी फायदेमंद रहता है. अगर टायर्स घिस गये हैं या फटने लगे हैं तो तुरंत उन्हें बदलवा लेना चाहिये.

बैटरी जरूर चैक करें

बाइक हो या स्कूटर समय-समय पर इनकी बैटरी को भी चैक करें. इस बात पर भी ध्यान दीजिये कि कहीं बैटरी में कहीं कोई लीकेज तो नहीं है अगर ऐसा है तो तुरन्त ठीक करा लेना ही बेहतर होता है.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...