तेजी से कम होगा वजन, बस इन 6 सब्जियों के जूस का करें सेवन

तेजी से कम होगा वजन, बस इन 6 सब्जियों के जूस का करें सेवन

मोटापा (Obesity) आज एक गंभीर समस्या है. यह कई गंभीर बीमारियों का कारण बनता है जो कभी-कभी घातक भी हो सकते हैं. इसलिए अगर तेजी से वजन (Weight) कम करने की इच्छा रखते हैं तो ऐसी कई सब्जियां हैं, जिसके जूस (Juice) को डाइट में शामिल कर फायदा पा सकते हैं. हरी सब्जियां (Green Vegetables) खाना सेहत के लिए फायदेमंद है, लेकिन कुछ सब्जियों का जूस बनाकर पीने से वजन घटाने में मदद मिलती है.

ये सब्जियां प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और फाइबर से भरपूर होती हैं, जिनसे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है और कैलोरी कम होती हैं, जिससे वजन भी कम होता है. यहां छह सब्जियां हैं, जिनका सेवन तेजी से वजन कम करने और मोटापे से संबंधित बीमारियों से लड़ने के लिए जूस के रूप में करना चाहिए.

लौकी का जूस

रोजाना सुबह एक गिलास लौकी का जूस पूरे दिन की ऊर्जा देता है. यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है और आपकी त्वचा को चमक भी देता है. नियमित व्यायाम के बाद रोजाना 100 ग्राम लौकी का जूस पीना चाहिए. लौकी के जूस को पीने से पेट घंटों भरा रहता है जिससे मोटापा कम होता है. लौकी को उबालकर नमक के साथ लेने से वजन कुछ ही दिनों में घट जाता है. इसमें विटामिन, पोटेशियम, आयरन, पानी और फाइबर भरपूर होता है.

टमाटर का जूस

एक अध्ययन के मुताबिक नियमित रूप से टमाटर का जूस पीने से कमर की चर्बी की समस्या को दूर किया जा सकता है. 20 से 30 साल की उम्र की महिलाओं ने परखा कि दो महीने तक रोजाना टमाटर का जूस पीने से उन्हें अपने शरीर में दो तिहाई का अंतर महसूस हुआ. टमाटर के पौष्टिक गुणों की सबसे अच्छी बात यह है कि सोडियम, संतृप्त वसा, कोलेस्ट्रोल और कैलोरी में स्वाभाविक रूप से कम है.

चुकंदर का जूस

चुकंदर के जूस में विटामिन सी, पोटैशियम मैग्नीशियम, आयरन, फाइबर फोलेट जैसे पोषक तत्व होते हैं. चुकंदर में ऐसे गुण होते हैं जो लंबे समय तक व्यायाम के कारण होने वाली थकान से भी निपटते हैं.

करेले का जूस

करेले का जूस कई समस्याओं से छुटकारा पहुंचा सकता है. आयुर्वेद के अनुसार डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों के लिए करेला बहुत उपयोगी है. यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करके इंसुलिन का उत्पादन बढ़ाता है. यह शरीर के भीतर अतिरिक्त शुगर के स्तर को नियंत्रित करके वजन को भी नियंत्रित करता है. करेला में फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और कम मात्रा में कैलोरी होती है जो वजन को कम करने में मदद करती है.

पालक का जूस

पालक में थायलाकोइड्स होता है. इसके नियमित सेवन से वजन नियंत्रित रहेगा और भूख का भी ध्यान रहेगा. पालक विटामिन ए, विटामिन बी2, सी, ई और के और आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज, फास्फोरस, तांबा, फोलेट, प्रोटीन और फाइबर का अच्छा स्त्रोत है.

फूलगोभी का रस

यह फाइबर से भरपूर होता है. फाइबर युक्त होने के कारण यह पेट को लंबे समय तक भरा रखता है और वजन को नियंत्रित रखने में मदद करता है.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...