कैंसिल चेक देते समय भूलकर भी ना करें ये गलती, छुपे होते हैं पांच बड़े राज

कैंसिल चेक देते समय भूलकर भी ना करें ये गलती, छुपे होते हैं पांच बड़े राज

आजकल बैंकिंग में चेक का एक महत्वपूर्ण स्थान है। आज भी कारोबार या फिर बैंक अथवा नौकरी के समय कैंसिल चेक की मांग की जाती है। कैंसिल चेक देने से पहले कई तरह की सावधानियां रखने की जरूरत है। हालांकि कैंसिल चेक का कुछ होता नहीं है, लेकिन इस तरह के चेक में भी आपके नाम की कई तरह की जानकारियां छुपी होती हैं। कैंसिल चेक को एक सत्यापन दस्तावेज के तौर पर देखा जाता है।

कैंसिल चेक देते समय सावधानी:
एक नॉर्मल चेक पर आड़ी तिरछी दो लाइनें खींचकर और बीच में Cancelled लिख देने से वो एक कैंसिल चेक बन जाता है। कैंसिल शब्द अंग्रेजी में लिखने से पहले देख लें कि ये किसी भी तरह से आपके बैंक खाते से संबंधित डिटेल्स पर न आए।

कैंसिल चेक बेकार है, ये सोचकर किसी को भी नहीं दे देना चाहिए. कैंसिल चेक पर आपके बैंक खाते से जुड़ी अहम जानकारी होती है। इसका इस्तेमाल गलत तरीके से आपके खाते से पैसे निकालने के लिए हो सकता है। अगर हो सके तो बिना साइन किया कैंसिल चेक ही दें।

हस्ताक्षर किया गया कैंसिल चेक सिर्फ उन्हीं कंपनियों और संस्थानों को दीजिए, जिन पर आप पूरा भरोसा करते हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...