वजन कम करने के लिए खाएं जामुन, आज ही जान लें इसके अद्भुत फायदे

वजन कम करने के लिए खाएं जामुन, आज ही जान लें इसके अद्भुत फायदे

जामुन (Black Currant) गर्मियों में खाए जाने वाला एक शानदार फल है. चाट मसाले के साथ खाने पर इसका स्वाद और भी जायकेदार हो जाता है. गर्मियों (Summer) में पैदा होने वाला फल जितना पौष्टिक होता है, उतना ही औषधीय गुणों से भी भरपूर है. जामुन खाने से पाचन (Digestion) ठीक होता है और पेट दर्द की तकलीफ भी दूर होती है. जिन लोगों को यूरिन (Urine) कंट्रोल करने में दिक्कत होती है, उनके लिए जामुन फायदेमंद होता है. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, न केवल जामुन का फल बल्कि इसकी गुठली और पत्तियां भी बहुत फायदेमंद हैं. आइये जानते हैं जामुन के विशेष गुण और इसको खाने से होने वाले फायदों के बारे में -

बैक्टीरिया इन्फेक्शन को रोकता है जामुन

जामुन में फाइट्रॉन्यूट्रिएंट्स होते हैं, जो शरीर में मौजूद बैक्टीरिया और इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं. इसके अतिरिक्त जामुन में विटामिन सी भी भरपूर होता है, जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी बीमारियों से लड़ने की ताकत मजबूत होती है.

वजन घटाने में मददगार

जामुन में कैलोरी की मात्रा न के बराबर होती है और फाइबर अधिक होता है, जिससे यह पाचन तंत्र को ठीक करने में मदद करता है. जामुन में फाइबर की मौजूदगी के कारण इसे खाने से पेट भरा हुआ महसूस होता है. इससे व्यक्ति को ज्यादा समय तक भूख नहीं लगती है. इसका सीधा प्रभाव शरीर की वसा पर पड़ता है. व्यक्ति ज्यादा खाना नहीं खाता है तो शरीर में जो अतिरिक्त चर्बी रहती है, वह बर्न होना शुरू हो जाती है, जिससे मोटापा कम होने लगता है.

ब्लड शुगर कंट्रोल में

डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, जामुन खाने से ब्लड शुगर लेवल भी नहीं बढ़ता है, इसलिए जामुन के सेवन से डायबिटीज भी संतुलित होती है. ज्यादातर न्यूट्रिशनिस्ट फाइबर से भरपूर चीजें खाने की सलाह देते हैं. जामुन इन्हीं में से एक माना जा सकता है. जामुन शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद करता है. व्यायाम के बाद फलों में जामुन खाने से ज्यादा फायदा होता है, क्योंकि व्यायाम करने के तुरंत बाद ही तेज भूख लगने लगती है.

शरीर का टॉक्सिन निकालने में मददगार

जामुन में मौजूद विटामिन ए और सी शरीर को डिटॉक्सिफाई करने का कार्य करते हैं. जामुन ठंडी तासीर का होता है, इसलिए यह पेट में ठंडक बनाए रखता है. दस्त की समस्या में भी जामुन काफी फायदेमंद होता है. बवासीर के रोगियों को भी जामुन खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि पाचन ठीक होने के कारण उन्हें भी तकलीफ से जल्द राहत मिलती है.

मौसमी फल है, इसलिए जरूर करें सेवन

मानसून के मौसम में मौसमी फलों का सेवन करना चाहिए, जिससे शरीर की इम्युनिटी मजबूत रहे, क्योंकि मानसून के दौरान प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है. जामुन गर्मी और मानसूनी मौसम के दौरान ही आते हैं. यह हैरान कर देने वाली बात है कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कुदरत खुद ही हमें ऐसे फल समय पर उपलब्ध करा देती है. ऐसे में यदि हम जामुन का समुचित सेवन करें तो आने वाले मौसम के प्रति हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को तैयार कर सकते हैं और स्वस्थ रह सकते हैं.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...