सूप पीते ही परिवार को कराना पड़ा कोरोना टेस्ट

सूप पीते ही परिवार को कराना पड़ा कोरोना टेस्ट

दुनिया कोरोना वायरस से जंग लड़ रही है। इस समय इस वायरस ने तभी मचा रखी है। दुनिया के कई देश लाशों के ढेर में बदल गई है। इस वायरस की शुरुआत चीन के वुहान से होने की बात कही गई। यहां चमगादड़ के मांस को खाने के कारन लोगों की बॉडी में ये वायरस आया और फिर ये इंसान से इंसान में फैलता चला गया। इसके बाद चीन में लोगों के खान-पान पर कई सवाल उठे।

इस देश में लोग सांप, छिपकली से लेकर चमगादड़ तक खा लेते हैं। लेकिन जबसे कोरोना आया है तबसे चीन ने अपने यहां इन जानवरों के मांस को खाने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। इस बीच अब चीन के वुहान में ही एक परिवार को ऑनलाइन सूप मंगाने के बाद तुरंत अपना कोरोना टेस्ट करवाना पड़ा। परिवार में एक महिला ने अपने बच्चे और पति के लिए सूअर के मांस का सूप मंगवाया था। लेकिन इस सूप में एक और जानवर मिला दिया गया।

वुहान में रहने वाले एक परिवार को तुरंत कोरोना टेस्ट करवाना पड़ा। इस परिवार ने ऑनलाइन पोर्क सूप मंगवाया था। इस सूप को पीने के बाद उसमें से एक ऐसी चीज मिली कि उन्हें तुरंत टेस्ट करवाना पड़ा।



सोशल मीडिया पर इस सूप की तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। इसमें पोर्क सूप में एक चमगादड़ देखा जा सकता है। इस चमगादड़ के पंख और बॉडी साफ़ दिखाई दे रहे हैं।



दरअसल, महिला ने अपने पति और बच्चे के लिए पोर्क सूप मंगवाया। परिवार एक साथ बैठकर सूप एन्जॉय ही कर रहा था कि अचानक उन्हें सूप में काले रंग की एक चीज नजर आई।



जब महिला ने उसे चम्मच से बाहर निकाला तो उन्होंने देखा कि सूप में एक चमगादड़ मरा पड़ा है। उसे देखते ही तीनों ने सूप छोड़ दिया।

आनन-फानन में परिवार अस्पताल पहुंचा। वहां सभी ने अपना कोरोना टेस्ट करवाया। लोकल मीडिया में परिवार की पहचान छिपाई गई है। सिर्फ उनका निक नेम चेन बताया।

हुबेई के वुहान में रहने वाले इस परिवार ने 10 जुलाई को सूप मंगवाया था। सूप पीते हुए पहले पिता ने चमगादड़ को देखा था। मिस्टर चेन ने बताया कि उसे पीने की वजह से सबको कोरोना टेस्ट करवाना पड़ा।



लोकल टीवी को इंटरव्यू देते हुए परिवार ने बताया कि वो सूप मंगवाकर वो पी चुके थे। बचे हुए सूप को उन्होंने फ्रिज में रखा। इसे अगले दिन गर्म कर पीने वाले थे।



लेकिन गर्म करने से पहले ही उनकी नजर चमगादड़ पर पड़ गई। चूंकि, कोरोना की शुरुआत चमगादड़ के मांस से होने की बात कही गई है, इसलिए उन्होंने कोरोना टेस्ट करवाया।



इस मामले को लेकर परिवार ने कंप्लेन की तो डिलीवरी कम्पनी ने रिफंड ऑफर किया लेकिन कंपनी का कहना है कि उसने सूप एक लोकल मैनुफैक्चर से ख़रीदा था। जबकि उस मैनुफ़ैक्चरर का कहना है कि वो दिन में सूप बनाते हैं ऐसे में उनसे चमगादड़ गिरना इम्पॉसिबल है। हो सकता है जब परिवार ने उसे फ्रिज से बाहर निकाला तब चमगादड़ गिर गया हो।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...