पंजाब टीम के को-ओनर नेस वाडिया ने कहा- खिलाड़ियों की रोज कोरोना जांच हो, इस बार आईपीएल को सबसे ज्यादा देखा जाएगा

पंजाब टीम के को-ओनर नेस वाडिया ने कहा- खिलाड़ियों की रोज कोरोना जांच हो, इस बार आईपीएल को सबसे ज्यादा देखा जाएगा

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब के को-ओनर नेस वाडिया ने कहा कि इस बार टूर्नामेंट को दुनियाभर में सबसे ज्यादा देखा जाएगा। वाडिया ने कहा कि कोरोना के बीच टूर्नामेंट को सुरक्षित माहौल में कराया जाएगा। मेरा मानना है कि खिलाड़ियों की रोज कोरोना जांच होनी चाहिए।

इस साल आईपीएल 29 मार्च से होना था, जो कोरोना के कारण अनिश्चितकाल के लिए टाल दिए गए थे। अब टी-20 वर्ल्ड कप टलने के बाद टूर्नामेंट को खाली विंडो में 19 सितंबर से 8 नवंबर तक यूएई में कराया जाएगा। यह बात आईपीएल चेयरमैन ब्रजेश पटेल ने शुक्रवार को कही है।

रोज टेस्ट कराने में कोई बुराई की बात नहीं

वाडिया ने कहा, ‘‘आईपीएल को सफल बनाने के लिए मैदान के अंदर और बाहर दोनों तरफ सेफ्टी प्रोटोकॉल्स होने चाहिए। कोई भी इससे समझौता नहीं करना चाहेगा। मेरा मानना है कि टूर्नामेंट के दौरान ज्यादा से ज्यादा जांच होनी चाहिए। रोज भी कर सकते हैं। यदि मैं क्रिकेटर होता तो मुझे रोज कोरोना टेस्ट कराने में खुशी होती। इसमें कोई बुराई की बात नहीं है।’’

आईपीएल का बायो-सिक्योर होना मुश्किल

इंग्लैंड-वेस्टइंडीज ट्विपक्षीय टेस्ट सीरीज बायो-सिक्योर तरीके से कराई जा रही है। इस पर वाडिया ने कहा, बायो-सिक्योर एक ऐसी प्रक्रिया है, जिस पर गंभीरता के साथ सोचने की जरूरत है। मुझे नहीं पता कि यह नियम 8 टीमों के टूर्नामेंट पर किस तरह से लागू किया जाएगा। फिलहाल, हम भारत सरकार से गाइडलाइंस मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

कोरोना के बीच हुए फुटबॉल टूर्नामेंट से बहुत कुछ सीखा जा सकता है

उन्होंने कहा, ‘‘यूएई दुनिया में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट करने वाला देश है। यहां हाई लेवल की टेक्नोलॉजी हैं। बीसीसीआई को स्थानीय प्रशासन के साथ जांच में सहयोग करने की जरूरत है। हम आईपीएल पहले ही एक बार यूएई में करा चुके हैं, लेकिन इस बार प्रोटोकॉल्स ज्यादा होंगे। कोरोना के बीच खेली गई फुटबॉल लीग जैसे- ईपीएल (इंग्लिश प्रीमियर लीग) से काफी कुछ सीखा जा सकता है।’’

इस बार ब्रॉडकास्टर्स को सबसे ज्यादा फायदा होगा

वाडिया ने कहा, ‘‘यदि इस बार आईपीएल सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टूर्नामेंट बनता है, तो इसमें मुझे कोई हैरानी नहीं होगी। यह भारत में ही नहीं, बल्कि दुनियाभर में हो सकता है। इस कारण ब्रॉडकास्टर्स को इस बार सबसे ज्यादा फायदा होगा।’’

फैंस को एंट्री मिलेगी या नहीं, यह यूएई सरकार पर निर्भर है

ब्रजेश पटेल ने कहा, ‘‘गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग जल्द होने वाली है, लेकिन हमने शेड्यूल तय कर दिया है। यह टूर्नामेंट 19 सितंबर से 8 नवंबर तक होगा। हमें उम्मीद है कि सरकार से भी जल्द मंजूरी मिल जाएगी। फिलहाल, हम कुछ ही दिन में एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसेजर) यानी कोरोना के लिए गाइडलाइंस तैयार कर लेंगे। टूर्नामेंट में फैंस को एंट्री मिलेगी या नहीं, यह यूएई सरकार के फैसले पर निर्भर है। इस मामले में हम जल्द ही यूएई सरकार को आधिकारिक लेटर भी लिखेंगे।’’

अगले हफ्ते होगी आईपीएल गवर्निंग काउंसिल मीटिंग

अगले हफ्ते आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग में होगी। इस मीटिंग में आईपीएल शेड्यूल समेत कुछ बड़े एजेंडे पर बात होनी है। इसमें यूएई में लीग शिफ्ट करना, फ्रेंचाइजियों के लिए कोरोना गाइडलाइन बनाना और ब्रॉडकास्टर की डिमांड भी शामिल है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...