पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में आज कैबिनेट बैठक, अनलॉक-3 और इन बातों पर हो सकती है चर्चा

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में आज कैबिनेट बैठक, अनलॉक-3 और इन बातों पर हो सकती है चर्चा

राजधानी दिल्ली में आज (बुधवार 29 जुलाई) प्रधानमंत्री आवास पर पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में कैबिनेट बैठक होने वाली है। इस बैठक में कोरोना वायरस और अनलॉक-3 पर चर्चा हो सकती है। इसके अलावा मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बैठक में आज नई शिक्षा नीति को मंजूरी मिल सकती है। इस साल बजट (2020-21) में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नई शिक्षा नीति का एलान किया था। सम्भव है कि उसी नई शिक्षा नीति के तहत इस बैठक चर्चा की जाएगी। वहीं बैठक में देश में बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर भी बैठक में बात की जा सकती है।

हालांकि बैठक किस मुद्दे पर होने वाली है या बैठक का वक्त क्या है इसके बारे में कोई अधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पीएम मोदी की अगुवाई में साढ़े 10 बजे आज कैबिनेट मीटिंग होगी। इस बैठक में तकरीबन सारे केंद्रीय मंत्री शामिल होंगे। बैठक प्रधानमंत्री आवासा लोक कल्याण मार्ग-7 में रखी गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज करेंगे बैंक, एनबीएफसी प्रमुखों के साथ बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को बड़े बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के प्रमुखों के साथ भी बैठक करेंगे। बैठक में वह कोरोना वायरस संकट से प्रभावित अर्थव्यवस्था की स्थिति का जायजा लेंगे। आधिकारिक बयान के अनुसार प्रधानमंत्री बैंकों और एनबीएफसी प्रमुखों के साथ भविष्य के दृष्टिकोण एवं रूपरेखा पर चर्चा और विचार-विमर्श करेंगे।

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में आज कैबिनेट बैठक, अनलॉक-3 और इन बातों पर हो सकती है चर्चा

बयान में कहा गया है, बैठक के एजेंडे में ऋण उत्पाद और डिलिवरी के दक्ष मॉडल, प्रौद्योगिकी के जरिये वित्तीय सशक्तिकरण और वित्तीय क्षेत्र के स्‍थायित्‍व एवं बाजार में टिके रहने के लिए विवेकपूर्ण तौर-तरीके शामिल हैं। बैंक ढांचागत क्षेत्र, कृषि, एमएसएमई (सूक्ष्‍म, लघु एवं मझोले उद्यम) समेत स्थानीय विनिर्माण को वित्त सुविधा उपलब्ध कराकर आर्थिक वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बैठक में सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

प्रधानमंत्री पिछले कुछ सप्ताह से अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों पर बैठकें कर रहे हैं और यह उसी कड़ी का हिस्सा है। बैठक में चर्चा अर्थव्यवस्था को गति देने के इर्द-गिर्द केंद्रित रह सकती है। विभिन्न घरेलू और वैश्विक एजेंसियों ने आर्थिक वृद्धि दर में (-) 3.2 से (-) 9.5 प्रतिशत तक की गिरावट का अनुमान जताया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...